महीनों के नाम कैसे पड़े?

महीनों के नाम कैसे पड़े?

हिन्दू धर्म में चैत्र, वैशाख, ज्येष्ठ, आषाढ़, श्रावण, भाद्रपद, अश्विन, कार्तिक, अग्रहायण, पौष, माघ, फाल्गुन बारह माह होते हैं। जिनके आधार पर अनेक पर्व भारतवासी मनाते हैं। अँग्रेज़ी में जनवरी, फ़रवरी, मार्च, अप्रैल, मई, जून, जुलाई, अगस्त, सितम्बर, अक्तूबर, नवम्बर, दिसम्बर महीने होते हैं।

आज के समय में प्रायः लोग इन्हीं नामों से महीनों को जानते हैं। क्या आपको पता है, इन महीनों का नाम कैसे पड़ा? आइये जानें। अँग्रेज़ी कैलेंडर को ग्रेगोरियन कैलेंडर भी कहा जाता है, क्योंकि 1600 साल से चले आ रहे कैलेंडर ‘पोप ग्रेगरी’ ने संसोधन किया था।

जानिये, Click here
कैलेंडर की शुरुआत कैसे हुई?

आज के इस पोस्ट में हम ग्रेगोरियन कैलेंडर में महीनों के नाम कैसे पड़े? इस विषय में जानेंगे।

लगभग आप जानते ही होंगे कि कैलेंडर बनाते समय वर्ष के 365 दिनों को 12 महीनों में विभाजित किया गया।

1) जनवरी (January) वर्ष का प्रथम महीना है। इसकी उत्पत्ति रोम के देवता ‘जेनस’ (Janus) के नाम से हुई। रोम के निवासी इस देवता के दो मुख मानते हैं, जो भूत और भविष्य में देखते रहते हैं.

2) फ़रवरी (February) रोमन त्योहार ((Fabrua) से निकला है।

3) मार्च (March) या मंगल रोम के निवासियों का युद्ध देवता था। इसी के नाम पर मार्च महीने का नाम रखा गया।

4) अप्रैल (April) सम्भवत: लैटिन भाषा के शब्द ‘एपेरिर’ (Epirer) से लिया गया है। इसका अर्थ खुलना होता है। चूँकि इस महीने में वसन्त ऋतु में वनस्पतियों खिलती हैं इसलिए इसको अप्रैल नाम दे दिया गया।

5) मई (May) शब्द की उत्पत्ति रोम के निवासियों की देवी ‘माइमा’ (Myma) के नाम से हुई है।

6) जून (June) की उत्पत्ति का सही पता नहीं है, लेकिन शायद यह स्वर्ग की रानी ‘जूनों’ (Juno) के नाम से लिया गया है।

7) जुलाई (July) रोम के शासक ‘जूलियस सीजर’ (Julius Caesar) के नाम से लिया गया है। वह इसी महीने में पैदा हुआ था। यही सबसे पहला व्यक्ति था, जिसने आधुनिक कैलेंडर के विकास में बहुत बड़‍ा योगदान दिया था।

8) अगस्त (August) मास की उत्पत्ति रोम के राजा ‘आगस्टस’ के नाम पर हुई है। उसने इस महीने में कई विजय प्राप्त की थीं।

9) सितम्बर (September) शब्द लैटिन भाषा के शब्द ‘सप्तम’ यानी सात से लिया गया है। पुराने रोमन कैलेंडर में यह सातवाँ महीना था.

10) अक्तूबर (October) लैटिन शब्द ‘आक्टो’ अथवा आठ से निकला है। पुराने रोमन कैलेंडर में यह आठवाँ महीना था.

11) नवम्बर (November) लैटिन शब्द ‘नवम (Novem) अर्थात नौ से निकला है, यह पुराने कैलेंडर में नौवाँ महीना था.

12) दिसम्बर (December) लैटिन शब्द डीसेम (Decem) से लिया गया है, जिसका अर्थ दसवाँ होता है। यह पुराने रोमन कैलेंडर में दसवाँ महीना था।

आशा है यह जानकारी आपको रोचक लगी होगी। पोास्ट को शेयर करना न भूलें।
https://sugamgyaansangam.com

 

 

 

 

Leave a Reply