Aaye bahar ban ke lyrics 1956

AAYE BAHAR BAN KE
GOLDEN LYRICS IN HINDI 1956

❛ आये बहार बन के…❜

ओ ओऽऽऽऽऽ ओ ओऽऽ ओ ओऽऽऽ
हो ओऽऽऽ ओ ओऽऽऽ ओ ओऽऽऽ
ओ ओऽऽऽ ओऽऽऽऽ
ओ ओ ओऽऽऽ ओ ओऽऽऽ

आये बहार बन के लुभाकर चले गये (२)
क्या राज़ था जो दिल में छुपाकर चले गये (२)… ||ध्रु.||

कहने को वो हसीन थे, आँखें थीं बेवफ़ा हो
आँखें थीं बेवफ़ा
कहने को वो हसीन थे, आँखें थीं बेवफ़ा हाय
दामन मेरी नज़र से बचाकर चले गये
आये बहार बन के लुभाकर चले गये… ||१||

इतना मुझे बताओ मेरे, दिल की धड़कनों हाय
दिल की धड़कनों
इतना मुझे बताओ मेरे, दिल की धड़कनों हाय
वो कौन थे जो ख़्वाब दिखाकर चले गये
आये बहार बन के लुभाकर चले गये
क्या राज़ था जो दिल में छुपाकर चले गये… ||२||

फ़िल्म:- राजहठ (१९५६)
गीतकार:- हसरत जयपुरी
संगीतकार:- शंकर जयकिशन
गायक:- मोहम्मद रफ़ी

How to search:- गुगल पर गीत के बोल टाइप करें, उसके बाद golden lyrics या lyrics golden टाइप करें। हर गीत का PDF अन्त में उपलब्ध है।

❛ आये बहार बन के…❜

ओ ओऽऽऽऽऽ ओ ओऽऽ ओ ओऽऽऽ
हो ओऽऽऽ ओ ओऽऽऽ ओ ओऽऽऽ
ओ ओऽऽऽ ओऽऽऽऽ
ओ ओ ओऽऽऽ ओ ओऽऽऽ

आये बहार बन के लुभाकर चले गये (२)
क्या राज़ था जो दिल में छुपाकर चले गये (२)… ||ध्रु.||

कहने को वो हसीन थे, आँखें थीं बेवफ़ा हो
आँखें थीं बेवफ़ा
कहने को वो हसीन थे, आँखें थीं बेवफ़ा हाय
दामन मेरी नज़र से बचाकर चले गये
आये बहार बन के लुभाकर चले गये… ||१||

इतना मुझे बताओ मेरे, दिल की धड़कनों हाय
दिल की धड़कनों
इतना मुझे बताओ मेरे, दिल की धड़कनों हाय
वो कौन थे जो ख़्वाब दिखाकर चले गये
आये बहार बन के लुभाकर चले गये
क्या राज़ था जो दिल में छुपाकर चले गये… ||२||

फ़िल्म:- राजहठ (१९५६)
गीतकार:- हसरत जयपुरी
संगीतकार:- शंकर जयकिशन
गायक:- मोहम्मद रफ़ी

PDF आये बहार बन के लुभाकर चले गये.राजहठ (१९५६)

Leave a Reply