Ajab hai dasta teri ai zindagi lyrics

Ajab hai dasta teri ai zindagi lyrics in hindi

अजब है दास्ताँ तेरी ऐ ज़िन्दगी

अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी (२)
कभी हँसा दिया, रुला दिया कभी
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी
कभी हँसा दिया, रुला दिया कभी
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी… ||ध्रु||

कली खिलने न पायी थी के शाख ही उजड़ गयी
अभी ज़रा-से थे के हमसे प्यारी माँ बिछड़ गयी
ओ आसमाँ बता (२) किया हमने था क्याऽऽ
जो मिली ये सज़ा (२) लड़कपन में ही ये दुनिया लुटी
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी
कभी हँसा दिया, रुला दिया कभी
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी… ||१||

तुम आयी माँ की मामता लिये तो मुस्कुराये हम
के जैसे फिर से अपने बचपन में लौट आये हम
तुम्हारे प्यार के (२) इसी आँचल तले
फिर से दीपक जले (२) ढला अँधेरा जगी रौशनी
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी
कभी हँसा दिया, रुला दिया कभी
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी… ||२||

मगर बड़ा ही संगदिल है ये मालिक तेरा जहाँ
यहाँ माँ-बेटों पे भी लोग उठाते हैं उँगलियाँ
कली ये प्यार की (२) झुलस के रह गयी
हर तरफ़ आग थी (२) हँसाने आयी थी रुलाकर चली
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी
कभी हँसा दिया रुला दिया कभी
अजब है दास्ताँ, तेरी ऐ ज़िन्दगी… ||३||

फ़िल्म:- शरारत (१९५९)
गीतकार:- शैलन्द्र
संगीतकार:- शंकर जयकिशन
गायक:- मोहम्मद रफ़ी

DOWNLOAD PDF

अजब है दास्ताँ तेरी ऐ ज़िन्दगी.शरारत (१९५९)

English Lyrics

Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi (2)
Kabhi hansaa diya, rula diya kabhi
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi
Kabhi hansaa diya, rula diya kabhi
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi

Kalee khilne na payi thee ke shakh hi ujad gayee
Abhi zaraa-se the ke pyari maa(n) bichhad gayee
O aasma(n) bataa (2) kiya hamne tha kya
Jo milee ye sazaa(2) ladakpan mein hi duniya lutee
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi
Kabhi hansaa diya, rula diya kabhi
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi

Tum aayee maa(n) ki maamta liye toh muskuraaye ham
Ke jaise phir se apne bachapan mein laut aaye ham
Tumhare pyar ke (2) isee aanchal tale
Phir se deepak jale (2) dhalaa andhera jagee raushanee
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi
Kabhi hansaa diya, rula diya kabhi
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi

Magar bada hi sangdil hai ye malik tera jahaa(n)
Yahaa(n) maa(n)-beto pe bhi log uthate hain ungaliyaa(n)
Kalee ye pyar ki (2) jhulas ke rah gayee
Har taraf aag thee (2) hansaane aayee thee rulaakar chalee
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi
Kabhi hansaa diya, rula diya kabhi
Ajab hai daasta(n), teri ai zindagi

Movie:- Shararat (1959)
Lyricist:- Shailendra
Music Director:- Shankar Jaikishan
Singer:- Mohammad Rafi

4 Comments

  1. graliontorile May 19, 2022
  2. r&d credits June 15, 2022
  3. cure for tumor June 21, 2022
  4. zorivareworilon June 28, 2022

Leave a Reply