Category: कविताएँ

बन्द करो ये लहू धार का

बन्द करो ये लहू धार का मुझे यह कविता व्हॉट्सएप पर किसी ने प्रेषित की थी। यह जिसकी भी रचना है उस कवि को हृदयपूर्वक धन्यवाद है! इस कविता …