Itni shakti hame dena data lyrics 1986

ITNI SHAKTI HAME DENA DATA
GOLDEN LYRICS IN HINDI 1986

❛ इतनी शक्ति हमें देना दाता…❜
(भाग-१)

SOLO:- इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
BOTH:- इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴ध्रु❵

SOLO:- दूर अज्ञान के हो अँधेरे
तू हमें ज्ञान की रौशनी दे
हर बुराई से बचते रहें हम
जितनी भी दे, भली ज़िन्दगी दे
बैर हो ना किसी का किसी से
भावना मन में बदले की हो ना
BOTH:- हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴१❵

SOLO:- हम न सोचें हमें क्या मिला है
हम ये सोचें किया क्या है अर्पण
फूल खुशियों के बाटें सभी को
सबका जीवन ही बन जाये मधुबन
ओऽऽ अपनी करुणा का जल तू बहा के
कर दे पावन हर इक मन का कोना
BOTH:- हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
आ आ आऽऽऽ आऽऽऽआ (८)…❴२❵

फ़िल्म:- अंकुश (१९८६)
गीतकार:- अभिलाष
संगीतकार:- कुलदीप सिंह
गायिका:- पुष्पा पागधरे और सुषमा (पूर्णिमा) श्रेष्ठ

❛ इतनी शक्ति हमें देना दाता…❜
(भाग-२)

[ इतनी शक्ति हमें दे न दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना ] (२)
[ हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना ] (२)…❴ध्रु❵

हर तरफ़ ज़ुल्म है बेबसी है
सहमा-सहमा-सा हर आदमी है
पाप का बोझ बढ़ता ही जाये
जाने कैसे ये धरती थमी है
बोझ ममता से तू ये उठा ले
तेरी रचना का ही अन्त हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴१❵

हम अँधेरे में हैं रौशनी दे
खो ना दे ख़ुद को ही दुश्मनी से
हम सज़ा पाये अपने किये की
मौत भी हो तो सह लें ख़ुशी से
कल जो गुज़रा है फिर से ना गुज़रे
आनेवाला वो कल ऐसा हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴२❵

फ़िल्म:- अंकुश (१९८६)
गीत:- अभिलाष
संगीत:- कुलदीप सिंह
गायक:- कोरस (सामूहिक)

How to search:- गुगल पर गीत के बोल टाइप करें, उसके बाद golden lyrics या lyrics golden टाइप करें। हर गीत का PDF अन्त में उपलब्ध है।

❛ इतनी शक्ति हमें देना दाता…❜
(भाग-१)

SOLO:- इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
BOTH:- इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴ध्रु❵

SOLO:- दूर अज्ञान के हो अँधेरे
तू हमें ज्ञान की रौशनी दे
हर बुराई से बचते रहें हम
जितनी भी दे, भली ज़िन्दगी दे
बैर हो ना किसी का किसी से
भावना मन में बदले की हो ना
BOTH:- हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴१❵

SOLO:- हम न सोचें हमें क्या मिला है
हम ये सोचें किया क्या है अर्पण
फूल खुशियों के बाटें सभी को
सबका जीवन ही बन जाये मधुबन
ओऽऽ अपनी करुणा का जल तू बहा के
कर दे पावन हर इक मन का कोना
BOTH:- हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना
आ आ आऽऽऽ आऽऽऽआ (८)…❴२❵

फ़िल्म:- अंकुश (१९८६)
गीतकार:- अभिलाष
संगीतकार:- कुलदीप सिंह
गायिका:- पुष्पा पागधरे और सुषमा (पूर्णिमा) श्रेष्ठ

 

❛ इतनी शक्ति हमें देना दाता…❜
(भाग-२)

[ इतनी शक्ति हमें दे न दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना ] (२)
[ हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना ] (२)…❴ध्रु❵

हर तरफ़ ज़ुल्म है बेबसी है
सहमा-सहमा-सा हर आदमी है
पाप का बोझ बढ़ता ही जाये
जाने कैसे ये धरती थमी है
बोझ ममता से तू ये उठा ले
तेरी रचना का ही अन्त हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴१❵

हम अँधेरे में हैं रौशनी दे
खो ना दे ख़ुद को ही दुश्मनी से
हम सज़ा पाये अपने किये की
मौत भी हो तो सह लें ख़ुशी से
कल जो गुज़रा है फिर से ना गुज़रे
आनेवाला वो कल ऐसा हो ना
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे
भूलकर भी कोई भूल हो ना
इतनी शक्ति हमें देना दाता
मन का विश्वास कमज़ोर हो ना…❴२❵

फ़िल्म:- अंकुश (१९८६)
गीत:- अभिलाष
संगीत:- कुलदीप सिंह
गायक:- कोरस (सामूहिक)

PDF इतनी शक्ति हमें देना देता. (भाग-१ और भाग-२) अंकुश (१९८६)

Leave a Reply