Motivational Thoughts-1-2-3

Motivational Thoughts-01

सफलता के प्रेरक विचार

किसी के पैरों में गिरकर सफलता को पाना।
इससे कहीं अच्छा है
अपने पैरों पर चलते रहें…
एक ना एक दिन मंज़िल को हमारे पास होगा आना।
ज़िन्दगी में हर समय हौसला आसमानों पर
लेकिन पैर ज़मीन पर रखना
तो नीचे गिरने का डर नहीं सतायेगा
निगाहों में मंज़िल थी, गिरे और गिरकर सँभलते रहे।
तूफ़ानों ने बहुत कोशिश की, मगर हौसलों के चिराग़ जलते रहे।।
क़श्तियाँ उनकी डूबती हैं, जिनके ईमान डगमगाते हैं।
जिनके दिल में नेकी हो, वे पार उतर जाते हैं।।
ज़िन्दगी में जहाँ पर रास्ते बन्द होते हैं, वहीं से दूसरा कोई न कोई रास्ता ज़रूर खुलता है, इसलिये हर समय धैर्य रखो।
अगर आप किसी की कामयाबी से ख़ुश नहीं हो सकते तो यह भी निश्चित है कि आप कभी कामयाब भी नहीं हो सकते।
हर किसी की अपनी ताक़त और कमज़ोरी होती है
मछली जंगल का शेर
और शेर पानी का राजा नहीं बन सकता।
कोई ग़रीबी का मारा है तो कोई हालात का,
वर्ना क़ाबिलियत तो सबमें कुछ न कुछ होती है
इसलिये
बेकार न करो अपने अल्फ़ाज़ हर किसी के लिये
बस ख़ामोश होकर देखो तुम्हें कौन समझता है
लोग कहा करते हैं क़िस्मत के फ़ैसले नहीं बदलते
लेकिन यह भी तो सच्चाई है कि फ़ैसलों से क़िस्मत बदल सकती है।

Motivational Thoughts-02

मंज़िल को पाना है

ज़िन्दगीे में कुछ बनना है तो हमेशा कुछ न कुछ करते रहिये
यह न सोचो कि मुझसे ग़लतियाँ होंगी;
बिना कुछ किये ज़िन्दगी गुज़ार देने से कहीं अच्छा है, ग़लतियाँ करते हुए ज़िन्दगी को नया मोड़ देना।
अपनी तक़दीर से ज़्यादा, अपनी मेहनत पर भरोसा करो;
क्योंकि तक़दीर कितनी भी अच्छी क्यों न हो
मेहनत की चौखट से हर किसी को गुज़रना ही पड़ता है।
किसी ने ठीक ही कहा है
झरनों से संगीत ना निकलता, जो उनकी राह में पत्थर ना होते।
बुलन्दियों को हम भी ना छूते, जो हालात से डर गये होते।।
मंज़िल उन्हें ही मिलती है, जिनके सपनों में जान होती है।
सिर्फ़ पंखों से कुछ नहीं होता ऐ दोस्त!
हौसलों में उड़ान होती है।।
सारी दुनिया कहे कि हार मान लो
लेकिन आत्मा कहे कि कोशिश कर, तो कुछ करने की ठान लो।
विकल्प तो कितने हैं, रास्ते भटकाने के लिये।
संकल्प एक ही काफ़ी है, मंज़िल को पाने के लिये।।
इसलिये जो संकल्प करो, उस राह पर चलते रहो।
अपने लक्ष्य की ओर धीरे ही सही, लेकिन चलते रहो।।
आज नहीं तो कल लोग ग़ौर करेंगे
रुक गये जो हम यहीं पर,
तो आगे कैसे बढेंगे?
अपनी मंज़िल पाने के लिये हर समय मेहनत करो।
जो लोग तुम्हें खोयेंगे, यक़ीन मानो वे रोयेंगे।

MOTIVATIONAL THOUGHTS-03

मन पर आदत का असर

हर मनुष्य एक जैसा ही है, उसकी आदतें, उसके विचार ही उसकी अलग पहचान बनाते हैं।

आदत का असर मन पर इस क़दर पड़ा, मुझे लगा मैं रब की इबादत कर रहा हूँ, बाद में पता चला कि मैं ख़ुदा से मोल-भाव करनेवाला व्यापारी बन गया हूँ।

मन को आदत की ऐसी लत लग जाती है कि बार-बार जाने पर बड़ा रास्ता भी उसे छोटा लगने लगता है, पहली बार जाने छोटा रास्ता भी बड़ा लगता है।

आदतों का जीवन में ऐसा प्रभाव है कि हम वही बन जाते हैं
जो हम बार-बार करते हैं।
इसलिये अच्छी आदतों को अपने जीवन में आत्मसात् कर लेना चाहिये।

आलस्य एक ऐसी आदत है, जो भूतकाल तो ख़राब कर ही देती है, अगर इससे नहीं बचे तो वर्तमान और भविष्य को भी बर्बाद कर देती है।

प्रेरक विचार किसी कार्य करने की शुरूआत में सहायक सिद्ध होते हैं, लेकिन मेहनत करने की आदत नहीं है तो कुछ भी हासिल नहीं हो सकता।

अच्छी किताबें, अच्छे विचार पढ़ा करो; क्योंकि अच्छी बात पढ़ने की आदत पड़ जाये तो अच्छी बात बोलने की भी आदत अपने-आप पड़ जाती है।

बुरी आदतें उस दलदल में छटपटाने के समान हैं, जिसमें जितना हाथ-पैर चलाओगे, उसी में धँसते चले जाओगे।

सबसे अच्छी आदत है कि अपनी आदत को सुधारो।
ख़ुद को बार-बार परखो, और विचारों को विचारो (विचार करो)।।
किस विचार के आदी, तुम बन गये हो सोचो।
मन पे रखो निगरानी, अपनी आदत को सुधारो।।

Leave a Reply